रंगीन कोना

रंगीन मन का एक कोना
छुपाया है दुनिया से

इस कोने में बैठ के
हम घंटों तुम्हे याद करते है , ताने बाने बुनते है

घंटों सपने बुनते
मीलों ज़िन्दगी निहारते

इस रंग में लिपटी
मेरी उल्फत की राहें
तुम तक मुझे पोहोचाके भी न पोहोचाएं

अजब रंगीन कोना है
जो सबसे छुपाया है
तुमसे भी….

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s