Independence day

लक्ष्य क्या है ? उद्देश्य क्या है ? क्या है इस जीवन का अर्थ ?
यह नहीं है ज्ञात यदि तिम , तो विज्ञान का सब श्रम है व्यर्थ।
नहीं छुट्टी , नही है घुट्टी , नहीं धूल , धूसर ,ना है सूरज आगमी
यह देह , सुखतर , स्वाद मंडल , तिमिर तक झक है निरर्थ ।
कर सकू जो मै , किसी तरह विपाश , व्योम यह संकीर्ण कीमीतर
गतिशालिनी , उदयाम , तापित , भूगोल झमझम तारक नूरर्थ ।

Advertisements

The Flower

हे पुष्प तेरी अभिलाषा कैसी 
वसंत ऋतु में श्वेत रंग जैसी। । 
तेरा प्रेम , तेरा स्नेह कैसा 
अप्रतिम , स्वच्छ गंगाजल जैसा 
तेरी समर्पण , विकट इच्छा कैसी 
किसी फुफकार रहे भुजंग जैसी 
तेरा गुंछन गुलदस्ते में निखार कैसा 
किसी तमा कार में तन्मय नूर जैसा। ।